औरंगाबाद : बुलंदशहर राजेन्द्र अग्रवाल नगर पंचायत औरंगाबाद में पंचायती जमीनों पर भूमाफियाओं द्वारा अवैध कब्जों की कहानी कोई नयी नहीं है। यहां का आलम यह है कि जब जिसकी मर्जी होती है पंचायती जमीन को अपनी बताकर निर्माण कार्य शुरू कर देता है। और अगर भूले भटके किसी ने शिकायत पर कार्रवाई करने का दुस्साहस किया भी तो उसे भी धता बता दिया जाता है।हालिया मामला शमसाबाद रोड स्थित अस्थाई गौशाला के सामने चक संख्या 1826का है। इस पंचायती भूमि पर एक भूमाफिया ने निर्माण कार्य शुरू करा दिया। कुछ जागरूक लोगों ने नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी को जानकारी दी और अवैध कब्जे को रुकवाने का आग्रह किया। अधिशासी अधिकारी सेवा राम राजभर ने नगर पंचायत लिपिक किशोरी लाल को कार्रवाई करने का निर्देश दिया। किशोरी लाल ने थाने पर लिखित तहरीर दी जिसपर पुलिस मौके पर पहुंची। अवैध निर्माण कर रहे भूमाफिया ने पुलिस को लिखित रूप से यथा स्थिति बनाये रखने का आश्वासन दिया लेकिन अगले ही दिन पुनः निर्माण कार्य शुरू करा दिया। कहा जाता है कि सत्तारूढ़ पार्टी के एक नेता के फोन आने पर काम शुरू किया गया।नायब तहसीलदार ललित नारायण प्रशांत ने बताया कि अवैध कब्जा कर रहे व्यक्ति को गुरुवार को नगर पंचायत कार्यालय बुलाया गया था और उसे यथा स्थिति बनाए रखने और निर्माण कार्य शुरू नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं। पैमाइश कराने के बाद ही निर्माण कार्य शुरू किया जायेगा अवैध कब्जा पाये जाने पर कठोर कार्रवाई होगी।

Spread the love