बुलंदशहर : आज अपने चुनावी सफर में संयुक्त इंडिया गठबंधन के प्रत्याशी शिवराम वाल्मीकि जी ने सुबह की शुरुआत चुने हुए जनप्रतिनिधियों से मुलाकात से की दोपहर के बाद शिवराम वाल्मीकि अगरपुर मुरसान शिवली गांव की तरफ निकले जहां उन्होंने विकास को आज का मुद्दा बनाते हुए प्रचार किया जब वह अगरपुर पहुंचे तो‌ वहां उनको लोगों ने गांव की दुर्दशा से अवगत कराया और उखड़े हुए नाली खडंजा दिखाएं वहां अपने बहुत ही संतुलित और संयत संबोधन में शिवराम वाल्मीकि जी ने कहा कि जब सत्ता अनैतिक और क्रूर हो जाती है उस अंधकार में जीवन सूत्र तलाश करना कठिन हो जाता है।

अगरपुर के बाद शिवराम वाल्मीकि जी मुरसान पहुंचे हैं जहां बहुत ही प्राकृतिक माहौल में उन्होंने अपना प्रचार किया और प्राकृतिक विविधताओं का विश्लेषण करते हुए उन्होंने लोगों को समझाया की प्रकृति धर्मनिरपेक्ष है चांद समय से निकलता है ईद हो या करवा चौथ यह हमारी प्राकृतिक विविधताएं हैं हमें बाबा साहब अंबेडकर के धर्मनिरपेक्ष संविधान की हर कीमत पर रक्षा करनी होगी इस तरह आज के अपने दौर में शिवराम वाल्मीकि जी ने आत्ममुगध जनविमुखसता को ललकारा इस वायदे के साथ शिवराम वाल्मीकि जी ने शिवाली की तरफ रूख किया।

शिवाली में शिवराम जी ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण किया और जय भीम जय भीम के नारे भी लगाए उन्होंने इशारों इशारों में बीजेपी पर तीखा हमला बोला कि बाबा साहब अंबेडकर एक व्यक्तित्व ही नहीं विश्व में प्रजातंत्र की जागृति की दार्शनिक विचारधारा थे जिसे हमें संजो के रखना है वर्तमान धर्मांध तानाशाह इस विचारधारा को कुचल देना चाहता है यह आज के वोटर के हाथ में है कि वह सत्ता को मजबूत सत्ता को मजबूत करना चाहता है या लोकतांत्रिक मूल्यों को खबर लिखे जाने तक शिवाली में शिवराम प्रत्याशी जी का जनसंपर्क जारी था।

आज के दौर में शिवराम वाल्मीकि जी के साथ प्रेमवीर यादव, सुभाष गांधी, विजय जैनवाल, मुनीर अकबर आदि लोग शामिल थे

Spread the love