सब्जियों के दामों में महंगाई का लगा तड़का टमाटर, आलू और हरी मिर्च के बढ़ते दामों ने छीन लिया खाने का स्वाद, गरीब लोगों ने सब्जियों से बनाई दूरी, ग्रहणियां परेशान

शिकारपुर : बुलंदशहर बारिश और गर्मी के कारण सब्जियों के दाम में तेजी आ गई है। बारिश से केवल जीवन अस्त व्यस्त हो रहा है बल्कि खाने की थाली पर भी इसका असर देखने को मिल रहा है। क्षेत्र में बिक रही सब्जियों के दामों में एक साथ बढ़ोतरी हुई है। जिससे रसोई का बजट बिगड़ गया है। कारण बस ग्रहणियों के बीच चिंता का विषय बना हुआ है। सब्जियों के दामों में आई तेजी से लोग हैरान है। सब्जियों के दामों में महंगाई का तड़का लग गया है बाजारों में आज सब्जी खरीद पाना मुश्किल हो चला है। सब्जी के बेलगाम बढ़ते भाव से साफ हो रहा है आम आदमी की थाली से कटोरी भर सब्जी दूर हो जाएगी।क्षेत्र के खुर्जा बस अड्डा, पहासू रोड, बीच वाली सब्जी मंडी, पेठ चौराहा, जहांगीराबाद चुंगी सहित विभिन्न स्थानों पर फुटकर में सब्जी बिकती है। यहां खरीदारी करने पहुंच रही ग्रहणीयो को सब्जी के कामों को सुनते ही बजट डगमगाने की चिंता सताने लगी है। आलम यह है कि अधिकांश सब्जियों में प्रयोग होने वाले आलू और टमाटर के दाम अत्यधिक हो गए हैं।क्या कहते हैं सब्जी विक्रेता………सब्जी विक्रेता सुखपाल सैनी, सचिन सैनी, दुर्गा सैनी, नारद जी योगेश आदि का कहना है कि इस समय लोकल सब्जी कम हो गई है। ऐसे समय में ज्यादातर बाहर से माल आता है। जिससे लागत बढ़ जाती है। पिछले दिनों से भीषण गर्मी के कारण पेड़ पौधे भी झुलस रहे हैं। इस कारण ज्यादातर सब्जियों के दाम बढ़े और पैदावार कम हो गई। इससे सब्जियों के दाम बढ़ गए हैं। जिससे बाजार में कोई भी सब्जी ₹40 नीचे नहीं है ।उधर किसान राजेश कुमार सैनी गोपाल किशन सैनी का कहना है कि बाजारों में सब्जियों के दाम आसमान छू रहे इसका लाभ किसानों को नहीं मिल पा रहा है। फुटकर विक्रेता दुगना लाभ उठा रहे हैं किसान अभी भी नुकसान में ही है।ग्रहिणिया बोली………बढते सब्जियों के दामों से रसोई का बजट बिगड़ गया है। जिससे रसोई का खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है।सोनी पाठक ग्रहणी, निवासी मोहल्ला बीच वाली सब्जी मंडी शिकारपुररसोई का खर्च बढ़ने से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आलू टमाटर अरबी लहसुन पर तेजी से दाम बढे हैं। रितु शर्मा, निवासी मूर्ति विहार शिकारपुर।सब्जियों के दामों पर एक नजर(प्रति किलो रुपए के हिसाब से)………….आलू ₹35 किलो, लौकी ₹40 किलो, गोभी ₹60 किलो, मिर्च ₹80 किलो, अदरक ₹240 किलो, ग्वाल की फली ₹60 किलो, करेला ₹50 किलो, भिंडी ₹40 किलो, प्याज ₹50 किलो। लहसुन 220 रुपए किलो शिमला मिर्च, 80 रुपए किलो आदि सब्जियों के दाम अलग अलग है।

Spread the love