01 जुलाई 2024 से 31 जुलाई 2024 तक संचारी रोग नियन्त्रण एव दस्तक अभियान हेतु अंतर्विभागीय बैठक सम्पन्न हुई

बुलन्दशहर : 28.06.2024/आज जिलाधिकारी श्री चन्द्र प्रकाश सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय व 01 जुलाई 2024 से 31 जुलाई 2024 तक संचारी रोग नियन्त्रण एव दस्तक अभियान हेतु अंतर्विभागीय बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने जननी सुरक्षा योजना के अन्तर्गत प्रसव तथा नसबंदी की गिरावट पर नाराजगी व्यक्त करते हुए प्रसव कार्य शतप्रतिशत तथा नसबंदी लक्ष्य के सापेक्ष पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया। साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि सीजेरियन प्रसव सेवाएं सीएचसी पर ही उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, तथा आशा संगिनी द्वारा गर्भवती महिलाओं को पूर्व में ही खान-पान सम्बन्धी जानकारी व सलाह, हीमोग्लोबिन टैबलेट व संवेदनशीलता के साथ सुपर विजन तथा प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अन्तर्गत गर्भवती महिलाओं की जांच कार्य शतप्रतिशत करने को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने सरकारी अस्पतालों में आने वाले ओपीडी एव आईपीडी मरीजों का इलाज व देखरेख गुणवतापूर्ण किया जाए, क्योंकि सरकारी अस्पतालों में निर्धन व मध्यम वर्ग के लोग अत्यधिक आते हैं। आशाओ द्वारा प्रसव सेवाएं हेतु निजी अस्पतालो में ले जाने पर कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समस्त सरकारी अस्पतालों में वाटर कूलर, पंखे, बेड, साफ- सफाई व्यवस्था एव अन्य व्यवस्थाओं का विशेष ध्यान रखा जाए जिससे किसी मरीज को असुविधा का सामना न करना पड़े। जिलाधिकारी श्री चन्द्र प्रकाश सिंह ने क्षय रोगियों एव राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत समस्त डॉक्टर अपने अपने क्षेत्र के विद्यालयों तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों पर अभियान चलाकर विद्यार्थियों का स्वास्थ्य परीक्षण व बच्चों का टीकाकरण तथा स्वास्थ्य सम्बन्धी व्यस्थाओं का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।बैठक में जिलाधिकारी ने आयुष्मान कार्ड की गति धीमी होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए शीघ्र ही कार्य पूर्ण करने एव स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर हेल्थ एण्ड वैलनेश सेन्टर पर कक्ष का निर्माण एव एच0डब्लू0सी0 उपकेंद्र के भवन के सुदृढ़ीकरण कार्य अतिशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।बैठक में जिलाधिकारी श्री चन्द्र प्रकाश सिंह ने विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान तथा संचारी रोगों एवं दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण एवं कार्यवाही हेतु बने माइक्रोप्लान एव विभिन्न विभागों द्वारा कार्य एवं दायित्वो का निर्वाहन गुणवत्तापूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि शासनादेश के प्रविधानों के अनुसार सम्पूर्ण रूप से अभियान को पूरे जनपद में गति के साथ संचालित कराये जाये। उन्होने कहा कि विभिन्न विभागों के लिये जिन दायित्वों एवं कार्यो का निर्धारण किया गया है वह उसे समय से पूर्ण कराते हुये रिपोर्ट प्रेषित करने के निर्देश दिए। साथ ही जिलाधिकारी ने बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों से स्पष्टिकरण तलब कर 1 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। बैठक में उपस्थित राष्ट्रीय दृष्टिविहीनता एव दृष्टिदोष नियन्त्रण कार्यक्रम, उत्तर प्रदेश के अन्तर्गत वर्ष 2023- 2024 में डा0 अब्दुल रशीद द्वारा 2633 मोतियाबिंद ऑपरेशन सफलतापूर्वक किए जाने पर प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर जिलाधिकारी श्री चन्द्र प्रकाश सिंह द्वारा उन्हें सम्मानित किया गया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री कुलदीप मीना ने बताया कि संचारी रोग तथा दिमागी बुखार पर सफलतापूर्वक नियत्रण पाने के लिये इस विषय पर एक सम्पूर्ण सोच के साथ सम्बन्धित विभागों के मध्य उचित समन्वय होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होने निर्देश दिये कि स्वच्छता के बेहतर प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाये तथा वाहक नियंत्रक गतिविधियां व्यापक रूप से आयोजित की जाये। लार्वा रोधी गतिविधियां तथा आवश्यकता अनुसार फॉगिग सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि सूकर पशुपालको का संवेदीकरण कराते हुये उनकी सूची प्रस्तुत कर, और सूकर पालक के बाड़े आबादी से बाहर स्थापित करने के निर्देश दिए। नगर विकास, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग, पंचायतीराज विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, माध्यमिक शिक्षा विभाग, पशु पालन विभाग, कृषि विभाग आदि विभागों के अधिकारियों को भी व्यापक जनजागरूकता प्रसारित किये जाने के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश मुख्य विकास अधिकारी ने दिये। उन्होने कहा है कि सभी विभाग समय से अपनी कार्ययोजना स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देशित किया कि विद्यालयों तथा आबादी क्षेत्रों के आसपास जंगली झाड़ियों को नियमित साफ करें तथा जल जमाव ना होने दें, स्कूल में बच्चे पूरे कपड़े पहन के आएं ये सुनिश्चित करें, एंटी लार्वा गतिविधियां के अंतर्गत दवा का छिड़काव, फॉगिंग लगातार कराई जाएं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देशित किया कि ग्राम विकास अधिकारी पंचायत स्तर पर निगरानी समिति की बैठक कराएं व ग्राम प्रधान, आंगनवाड़ी, आशा, तथा विद्यालय के अध्यापकों के समन्वय से जागरूकता के साथ नाले, नालियों, तालाबों में केरोसिन का छिड़काव कराएं, आंगनवाड़ी के माध्यम से कुपोषित बच्चों की विशेष निगरानी करें।इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनय कुमार सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Spread the love