बुलंदशहर : आज संगठन के चेयरमैन राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि सामान्य तौर से देखा गया है आम जनता विशेष कर उद्यमी एवं व्यापारी पर प्रशासनिक अधिकारी कानूनी नियमावली के अनुसार कार्यवाही करते हैं, उसी दायरे में आए अन्य सरकारी विभाग पर वह कार्यवाही नहीं होती पिछले कितने वर्षों से नगर पालिका की पानी की टंकी सफाई ना होने के कारण बहुत ही दूषित पानी आता है और हमने यह बात कितनी ही बार व्यापारी बंधु की मीटिंग में जिलाधिकार बुलंदशहर के समक्ष भी रखी है परंतु उसका कोई असर नहीं होता है जब उस दूषित पानी को व्यापारी या उद्यमी खाद्य पदार्थ में प्रयोग करेगा तो उसे खाद्य पदार्थ का सैंपलिंग होने पर निश्चित तौर पर उसका सेंपल भी फेल आएगा जिसका कारण गलती संबंधित विभाग की होगी और दंड उद्यमी या व्यापारिक मिलेगा , बच्चों को स्कूल में मिलने वाला मिड डे मील का आज तक खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा कोई भी सैंपलिंग नहीं हुई है, साप्ताहिक लगने वाले हाट/ बाजारों में एक्सपायर खाद्य पदार्थ जैसे बिस्किट्स चिप्स मसाले नूडल आदि अन्य पदार्थ धड़ले से सरकारी अधिकारियों के नाक के नीचे धड़ल्ले से बिकती है इसके अलावा साबुन तेल शैंपू वाशिंग पाउडर आदि एक्सपायर इन हाथों में अक्सर पाई जाती है, इन सभी कारणों से एक तरफ समाज को घटिया सामग्री जो उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है और दूसरी ओर सरकारी रिवेन्यू का बहुत बड़ा नुकसान होता है एवं जो दुकानदार ईमानदारी से व्यापार पर लगने वाले विभिन्न टैक्सों को भरकर लगातार नुकसान की ओर बढ़ रहा है उद्यम और व्यापार में बहुत ही परेशानी खड़ी होगी आपसे अनुरोध है संबंधित विभागों को आदेशित किया जाए कि वह समाज के स्वास्थ्य एवं सरकारी रेवेन्यू का नुकसान ना करें। नगर अध्यक्ष सौरभ गर्ग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार आपने जन प्रतिनिधियों को नियंत्रण में रखा है उसी प्रकार प्रशासनिक अधिकारियों को पर भी अंकुश लगाकर उन्हें नियंत्रण में रखने की बहुत आवश्यकता है। ज्ञापन में शामिल लोगों के नाम इस प्रकार हैं सजल अग्रवाल दिनेश गोयल, देवेंद्र कुमार, सचिन बंसल, धर्मराज , राजीव , तरुण कुमार, दिनेश कुमार, घनेंद्र शर्मा, अमित सिंघल अशोक गिरी ,ज्ञानेंद्र शर्मा अभय, कंसल, अजय अग्रवाल , अभय कंसल, पीतांबर शर्मा, असलम,रियाज,आदि लोग मौजूद रहे।

Spread the love