नेहा एन्क्लेव औरंगाबाद का मामला राजस्व अधिकारी मौन, पुलिस ने किये हाथ खड़े

औरंगाबाद : बुलंदशहर राजेन्द्र अग्रवाल औरंगाबाद कस्बे में अवैध अतिक्रमण कारियों, भूमाफियाओं और सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे बेखौफ धड़ल्ले से जारी हैं। सरकारी तालाबों को भूमाफियाओं ने अपनी कारगुजारियों से इतना बौना कर दिया है कि कागजों में सरकारी अभिलेखों में भले ही तालाबों का रकबा बींधो में मौजूद हो हकीकत में सरकारी तालाबों का रकबा गजों में सिमटकर रह गया है।ताज़ा तरीन मामला स्टेट हाइवे पर मूढ़ी बकापुर मोड के सामने गोयल भवन के पीछे नेहा एन्क्लेव में रास्ते पर अवैध कब्जे का सामने आया है। एक दबंग ने दबंगई और अधिकारियों की मिली भगत से कालोनी के 14,15 फुटे रास्ते पर रातों रात कब्जा करने की नीयत से दीवार लगा दी। रास्ते पर कब्जा होने की जानकारी पर कुछ लोगों ने 112 डायल कर पुलिस को सूचना दी। गुरुवार को पुलिस मौके पर पहुंचीं। थोड़ी देर काम रुका रहा। लेकिन बाद में पुलिस ने यह कहकर हस्तक्षेप से इंकार कर दिया कि मामला राजस्व विभाग का है। राजस्व लेखपाल वेद सिंह को सूचना दिए जाने पर उन्होंने अपने को व्यस्त बताते हुए मामले को बाद में देखने की बात कहते हुए पल्ला झाड़ लिया। अधिकारियों के फील गुड के बाद इस कस्बे में कोई रास्ते पर अवैध कब्जा करे या सरकारी जमीन पर, अधिकारियों को इससे कोई गुरेज नहीं हो पाता।

Spread the love