कप्तान ने दिये पाक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के कड़े निर्देश

औरंगाबाद : बुलंदशहर राजेन्द्र अग्रवाल ग्राम परवाना थाना खानपुर में नाबालिग लड़की के साथ दो युवकों ने सूने घर में जबरन दबोच कर बलात्कार का असफल प्रयास करने के संगीन मामले में खानपुर थाना पुलिस ने जबरदस्त खेल कर मामले को एन सी आर में दर्ज कर लिया था। जबकि नाबालिग लड़की के साथ अश्लील हरकतें करने वाले नामजदों के खिलाफ नियमानुसार पाक्सो एक्ट में कार्रवाई की जानी चाहिए थी। पुलिस के इस रवैए के खिलाफ पीड़िता बच्ची ने अपने परिजनों के साथ गुरुवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मिल न्याय की गुहार लगाई और दुस्साहसी दोनों आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई कराने की मांग की। पीड़िता के पिता ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लिखित प्रार्थना पत्र भी दिया जिसके साथ बच्ची की उम्र का प्रमाण पत्र भी संलग्न कर आरोपियों को कठोर दण्ड दिलाने और पीड़िता बच्ची को न्याय दिलाने की गुहार लगाई।पुलिस कप्तान ने मामले को बेहद संगीन माना और खानपुर थाना प्रभारी को अविलंब पाक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर नामजदों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के कड़े निर्देश दिए।पीड़ित परिवार ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की मानवीय संवेदना की भरपूर सराहना करते हुए न्याय मिलने की आशा जताई है।विदित हो कि मंगलवार की सुबह नाबालिग लड़की को उसकी पड़ोसन आशी गोबर उठवाने के लिए अपने साथ लिवाकर ले गयी थी आशी उसे वहीं छोड़ कर गोबर डालने चली गई तो परवाना निवासी अंकित और नरेंद्र पुर थाना नरसेना निवासी विशाल जो उस घर में पहले से ही छुपे बैठे थे ने नाबालिग लड़की को जबरन दबोच कर बलात्कार करने का प्रयास किया । चीख-पुकार सुनकर मौहल्ले वालों के साथ लड़की के चाचा ने उसे आरोपियों के चंगुल से मुक्त कराया। इसके बाद नरेंद्र पुर से कुछ लोगों को बुला कर विशाल ने पीड़ित परिवार के साथ मारपीट कर जान से मारने की धमकी दे डाली और भाग गये थे।

Spread the love