बुलंदशहर : के श्री महालिंगपुरम गंगेरुआ स्थित श्री द्वादशमहालिंगेश्वर सिद्धमहापीठ के संस्थापक आचार्य मनजीत धर्मध्वज ने बताया कि राष्ट्र समाज एवं विश्व के हित में निर्मित श्री द्वादशमहालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ की प्रतिष्ठा भगवान शिव के दर्शन और प्रेरणा से 18 अप्रैल 2018 में अक्षय तृतीया को हुई इस सिद्धमहापीठ में 70 फुट ऊंचे विश्व के विशालतम शिवलिंगों में से एक श्री महालिंगेश्वर भगवान के साथ भारतवर्ष के मुख्य मुख्य तीर्थों की रज ,कुंडो ,सरोवरों ,समुद्रों के जल के साथ भारतवर्ष के 12 ज्योतिर्लिंगों से 12 शिवलिंग स्पर्श कराकर बड़े विधिविधान के साथ प्रतिष्ठित किए गए हैं।जिससे समस्त तीर्थो का फल एक ही जगह प्राप्त होता है। साथ में ही भारतवर्ष का प्रथम इष्ट संगम केंद्र भी समस्त देवताओं के साथ प्रतिष्ठित कराया गया।आचार्य मनजीत ने बताया कि परम सौभाग्य से इस दिव्य सिद्धमहापीठ का छठा प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव 10 मई दिन शुक्रवार अक्षय तृतीया को बड़े धूमधाम के साथ मनाया जाएगा जिसमें प्रातः 10:00 बजे से 12:30 बजे तक भगवान श्री महालिंगेश्वर जी का अभिषेक एवं पीठस्थ समस्त देवताओं का पूजन करके समस्त राष्ट्र में शांति एवं आत्मिक उन्नति हेतु प्रार्थना की जाएगी । तदोपरांत भंडारा ,भजन संगीत एवं धार्मिक आयोजन किए जाएंगे।

Spread the love