बुलंदशहर : के श्री महालिंगपुरम स्थित श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ पर छठा वार्षिक महा उत्सव मनाया जाएगा, श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ विश्व के विशालतम शिवालियों में से एक है, यहां सिद्ध पीठ पर 70 फीट ऊंचे श्री महालिंग जी विराजमान है, महालिंग जी के साथ ही 12 ज्योतिर्लिंग एक साथ यहां भक्तों को पुण्यलाभ देने हेतु विराजमान है, एक ही स्थान पर 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन का दिव्य पुण्य प्राप्त होता है, श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ की प्राण प्रतिष्ठा पीठाधीश आचार्य मनजीत धर्मध्वज जी के द्वारा राष्ट्रहित एवं राष्ट्र उन्नति के लिए की गई थी, श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ की स्थापना मेदनी ज्योतिषी के अनुसार की गई है और राष्ट्र निर्माण, राष्ट्र विकास, राष्ट्रउन्नति के लिए मेदनी ज्योतिषि का ही उपयोग किया जाता है, चूंकि श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ की प्राण प्रतिष्ठा अक्षय तृतीया के दिन की गई थी, अक्षय तृतीया के दिन प्राण प्रतिष्ठा करने का मूल उद्देश्य था कि इस धरती पर सनातन का कभी भी छय ना हो, आगामी 10 मई की अक्षय तृतीया को श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ पर छठा वार्षिक महाउत्सव मनाया जाएगा, इसी महोत्सव के लिए आज श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ पर पीठाधीश्वर आचार्य जी के दिशा निर्देश में सेवादारों की एक मीटिंग का आयोजन किया गया, महापीठ पर आयोजित होने वाली आज की मीटिंग में सुनिश्चित किया गया कि किस प्रकार वार्षिक महोत्सव को इस बार मनाया जाएगा, सुबह 10:00 बजे श्री महालिंगेश्वर महादेव के दिव्य अभिषेक से वार्षिक महोत्सव का आरंभ होगा एवं संपूर्ण 51 सिद्ध विग्रह पूजन के बाद महालिंग जी के दिव्य प्रसादी का आयोजन किया जाएगा, सभी सेवादारों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां आचार्य जी के द्वारा सौंपी गई। इस मौके पर सिद्ध महापीठ के पुजारी पंडित भोला जोशी, पंडित संदीप प्यासी, पंडित चंद्रशेखर समेत कुंवरपाल सिंह, सुशील चौधरी, शीलू ठाकुर, शशांक पंडित, शिवम सिंह, प्रियांशु मौजूद रहे।

Spread the love