शिकारपुर : शुक्रवार को वर्ष 2013,2015 में जूनियर हाईस्कूलों के प्रधानाध्यापकों के पद पर विभाग में प्रथम नियुक्ति तिथि को वरिष्ठता का आधार मानकर पदोन्नति की गई थी,जिसको लेकर हाई कोर्ट इलाहाबाद में याचिका संख्या 34407/2013,39915/2015 दायर की गई जिस पर हाई कोर्ट इलाहाबाद के द्वारा स्थगन आदेश जारी कर दिए लेकिन पदोन्नति पाए अध्यापकों को आज तक भी अपने मूल विद्यालयों में वापिस नही किया गया।जिससे खिन्न होकर हाई कोर्ट इलाहाबाद में अवमानना याचिका 3561/2013 दायर कर इनको मूल विद्यालयों में वापिस करने की अपील की गई,तब बेसिक शिक्षा सचिव के द्वारा जून 2013 में जारी शासन आदेश को जून 2015 में वापिस ले लिया गया फिर भी पदोन्नति पाए शिक्षकों को मूल विद्यालयों में वापिस नहीं किया गया 11 मार्च 2024 को याचिका संख्या 35913 को सरकार और संबंधितों को निर्देशित करते हुए की 90दिवस के अंदर इनका निस्तारण करे इसलिए हाई कोर्ट इलाहाबाद के आदेशों के अनुपालन में पदोन्नति पाए सभी शिक्षकों को अपने मूल विद्यालयों को वापिस कराने हेतु एक बैठक का आयोजन मूर्ति विहार शिकारपुर नगर में महेन्द्र सिंह के आवास पर हुई जिसमे वेद प्रकाश गौतम याची एवं शिक्षक नेता बुलन्दशहर ने कहा की या तो सरकार इनको वापिस करती है नहीं तो हमको हाई कोर्ट इलाहाबाद में पुनः रिट दायर कर वापिस करने की मांग करेंगे इस मौके पर महेन्द्र सिंह, भीम प्रकाश, मनीष कुमार, अनिल कुमार, डोगेश कुमार, जुगेन्द्र कुमार, रविन्द्र कुमार, सतपाल, महेश चन्द्र, संतोष कुमार, डेविड कुमार, आदि ने मौजूद रह कर विचार रखे ।

Spread the love